Sad Dikhawa shayari, Quotes Aur Status In Hindi

Dikhawa sad shayari, Quotes Aur Status In Hindi - दिखावा शायरी हिंदी में

Dikhawa shayari, Quotes Aur Status In Hindi - दिखावा शायरी हिंदी में

Dikhawa Toh Bas Kuch Din Ka mehmaan Hai

Originality Hi Aapki Asli Shaan Hai

दिखावा तो बस कुछ दिन का मेहमान है 

ओरिजनलिटी ही आपकी असली शान है

Ye Dikhawe Ki Zindgi Hume Nahi Pyaari Hai

Hum apne Mein Rehte Hai Hamari Leela Nayari Hai

और ये दिखावे की जिंदगी हमें नहीं प्यारी है 

हम अपने में रहते हैं हमारी लीला न्यारी है

Dikhawa shayari, Quotes Aur Status In Hindi - दिखावा शायरी हिंदी में

Aur Dikhawa Ye Kab Tak Tikega

Jab Tak Sach Na Aa Jaaye Bahar Tera 

Tab Tak Tikega

और दिखावा ये कब तक टिकेगा 

जब तक सच ना आ जाए बाहर तेरा तब तक टिकेगा

Apni Asliyat Bhul Jayenge Log Iss Dikhawe Ke Chahkar Mein

Aayenge Nahi Phir Kabhi Khud...Khud Ki Hi Pakad Mein

अपनी असलियत भूल जाएंगे लोग इस दिखावे के चक्कर में 

आएंगे नहीं फिर कभी खुद... खुद की ही पकड़ में

Dikhawa Quotes In Hindi

Dikhawa shayari, Quotes Aur Status In Hindi - दिखावा शायरी हिंदी में

Dikhawa Bhi Ek Had Mein Accha Lagta Hai

Aur Itna Dikhawa Logo Ko Bhi Nahi Saccha Lagta Hai

दिखावा भी एक हद में अच्छा लगता है 

और इतना दिखावा लोगों को भी नहीं सच्चा लगता है

Aur Ye Dikhawa Kab Tak Tikega Kabhi Na Kabhi Toh Jata Hai

Sach Jab Bahar Nikal Ke Aata Hai

और ये दिखावा कब तक टिकेगा कभी ना कभी तो जाता है 

सच जब बाहर निकल के आता है

Dikhawa shayari, Quotes Aur Status In Hindi - दिखावा शायरी हिंदी में

Aur Khuda Se Ladta Hoon Main Mujhe Sach Janne Mein Kyun Deri Huyi

Uske Dikhawe Ke Pyaar Mein Barbaad Zindgi Meri Huyi

और खुदा से लड़ता हूं मैं मुझे सच जानने में क्यों देरी हुई 

उसके दिखावे के प्यार में बर्बाद जिंदगी मेरी हुई

Quotes On Dikhawa

Kuch Log Dikhawe Se Baaj Nahi Aate

Aur Tab Tak Karte Hai Dikhawa 

Jab Tak Bahar Nikal Kar Khud Unke Raaj Nahi Aate

कुछ लोग दिखावे से बाज नहीं आते 

और तब तक करते हैं दिखावा 

जब तक बाहर निकल कर खुद उनके राज नहीं आते

Dikhawa shayari, Quotes Aur Status In Hindi - दिखावा शायरी हिंदी में

Logo Ko Dikhawa Pasand Jyada Hai

Apni Asliyat Ke Saath Khud Ko Log Mante Aadha Hai

लोगों को दिखावा पसंद ज्यादा है 

अपनी असलियत के साथ खुद को लोग मानते आधा है

Aur Jo Baat Originality Mein Hai

Wo Iss Dikhawe Mein Kahan

और जो बात ओरिजिनलिटी में है 

वो इस दिखावे में कहां

Dikhawa Shayari In Hindi

Dikhawa shayari, Quotes Aur Status In Hindi - दिखावा शायरी हिंदी में

Aksar Yoonhi Log Uda Dete Hai Dikhawe mein

Paise Ki Kami Ho Jaati Hai Fir Byaah-Shaave Mein

अक्सर यूं ही लोग उड़ा देते हैं दिखावे में 

पैसे की कमी हो जाती है फिर ब्याह-शावे में

Asliyat Ka Samna Karne Se Dar Lagta Hai

Kuch Logon Ko Dikhawa Hi Apna Ghar Lagta Hai

असलियत का सामना करने से डर लगता है 

कुछ लोगों को दिखावा ही अपना घर लगता है

shayari, Quotes Aur Status In Hindi - दिखावा शायरी हिंदी में

Aur Apni Dikhawe Ki Zindgi Mein Kuch Log Aise Khote Hai

Jab Asliyat Bahar Aati Hai Khud Ki Fir Khoob Rote Hai

और अपनी दिखावे की जिंदगी में कुछ लोग ऐसे खोते हैं 

जब असलियत बाहर आती है खुद की फिर खूब रोते हैं

Dikhawa Do Din Tikta Hai

Aur Original Pure Sau Din Tikta Hai

दिखावा दो दिन टिकता है 

और ओरिजिनल पूरे सौ दिन टिकता है

Pyaar Mein Dikhawa Shayari In Hindi

shayari, Quotes Aur Status In Hindi - दिखावा शायरी हिंदी में

Hakikat Mein Aane Ka Isiliye Man Karta Nahi Logon Ka

Kyunki Dikhawe Se Man Bharta Nahi Logon Ka

हकीकत में आने का इसलिए मन करता नहीं लोगों का 

क्योंकि दिखावे से मन भरता नहीं लोगों का

Kuch Logo Ko Iss Qadar Dikhawa  Pasand Hai 

Jaise Wo Ho Gaye Iss Dikhawe Mein Band Hai 

कुछ लोगों को इस कदर दिखावा पसंद है 

जैसे वो हो गए इस दिखावे में बंद है

 Dikhawa Shayari For Instagram

Jaisa Bhi Ho Saccha Hoga

Dikhawe Se Original Accha Hoga

जैसा भी हो सच्चा होगा 

दिखावे से ओरिजिनल अच्छा होगा


Teri Aadhi Zindgi Toh Gujar Gayi Dikhawe Mein

Yaar Ab Toh Tu....Tu Bann Ke Reh

तेरी आधी जिंदगी तो गुजर गई दिखावे मैं 

यार अब तो तू.... तू बन के रह


Thi Do Din Ki Mohabbat Aur Dikhawe Ka Pyaar Tha Unka

Main Toh Sirf Uska Kharcha Tha Koi Aur Yaar Tha Unka

थी दो दिन की मोहब्बत और दिखावे का प्यार था उनका 

मैं तो सिर्फ उसका खर्चा था कोई और यार था उनका

Dikhawa Shayari For Whatsaap

Ab Paani Sar Se Upar Chashme Laga Hai

Unki Mohabbat Mein Dikhawa Kuch Jyada Hi Badhne Laga Hai

अब पानी सर से ऊपर चढ़ने लगा है 

उनकी मोहब्बत में दिखावा कुछ ज्यादा ही बढ़ने लगा है


Aur Mohabbat Mein Dikhawa Aam Baat Ho Gayi Hai

Sacchi Mohabbat Logon Ke Liye Haram Baat Ho Gayi Hai

और मोहब्बत में दिखावा आम बात हो गई है 

सच्ची मोहब्बत लोगों के लिए हराम बात हो गई है


Iss Dikhawe Ki Duniya Mein Log Bohot Kuch Dikha Jate Hai

Jo Gyan Logon Ke Paas Nahi Hota Hume Wo Bhi Sikha Jaate Hai

इस दिखावे की दुनिया में लोग बहुत कुछ दिखा जाते हैं 

जो ज्ञान लोगों के पास नहीं होता हमें वो भी सिखा जाते हैं

Pyaar Mein Dikhawa Shayari Aur Quotes

Bas hume Accha Lagna Hai Yahi Reason Hai

Aap Bhi Kariye Bhai Sahab Dikhawe Ka Season Hai

बस हमें अच्छा लगना है यही रीजन है 

आप भी करिए भाई साहब दिखावे का सीजन है


Apne Hone Ka Dawa Karte Hai Log

Aur Kuch Nahi Bas Dikhawa Karte Hai Log

अपने होने का दावा करते हैं लोग 

और कुछ नहीं बस दिखावा करते हैं लोग


Jitni Lambi Chadar Utne Hi Pair Pasaro

Jaise Ho Waise Raho Iss Dikhawe Ko Goli Maro

जितनी लंबी चादर उतने ही पैर पसारो 

जैसे हो वैसे रहो इस दिखावे को गोली मारो


Ye Jo Saath Nibhane Ka Wada Karte Hai

Inki Baaton Mein Apnapan Kam Hota Hai Ye Dikhawa Jyada Karte Hai

ये जो साथ निभाने का वादा करते हैं 

इनकी बातों में अपनापन कम होता है ये दिखावा ज्यादा करते हैं


Dikhawa Manjur Hai Magar Hakikat Nahi

Logon Ko Ismein Bhi Koi Dikkat Nahi

दिखावा मंजूर है मगर हकीकत नहीं 

लोगों को इसमें भी कोई दिक्कत नहीं


Sach Kya Hai Kuch Bhi Chhupa Nahi Hai Us Ram Se

Tumhe Pata Hai Dikhawe Ki Zindgi Kuch Waqt Hi Gujarti Hai Aaram Se

सच क्या है कुछ भी छुपा नहीं है उस राम से 

तुम्हें पता है दिखावे की जिन्दगी कुछ वक़्त ही गुजरती है आराम से

Shayari On Dikhawa

Aur ye Jo Log Dikhawa Karte Hai

Apne Dikhawe Ko Hi Sach Hone Ka Dawa Karte Hai

और ये जो लोग दिखावा करते हैं 

अपने दिखावे को ही सच होने का दावा करते है


Aur Dikhawe Se Upar Uthkar Dekho 

E Dost Mere Ye Zindgi Tumhari Apni Hai

और दिखावे से ऊपर उठकर देखो 

ए-दोस्त मेरे ये जिंदगी तुम्हारी अपनी है


Dikhawa Log Karte Hai

Aur Dikhawe Pe Hi Ye Log Marte Hai

दिखावा लोग करते हैं 

और दिखावे पे ही ये लोग मरते हैं

Sad Shayari On Dikhawa

 Ye Dikhawa Ye Jhuthi Shaan

Isse Chup Jayegi Aapki Pehchaan


Aur Dikhawa Ye Jo Bohot Badhne Laga Hai

Lagta Hai Har Koi Paath Dikhawe Ka Padhne Laga Hai


Dikhawa Nahi Yahi Meri Sacchai Thi

Tumhe Dekh Dekh Kar Hi Maine Jaan Apni Bachayi Thi

Very Sad Dikhawa Shayari

Suna Hai Dikhawe Se Pare Bhi ek Jahan Hai

Mujhe Ton Nahi Najar Aaya Bhai Kahan Hai


Dikhawa Bohot Jyada Karne Lage Hai Log 

paiso Ke Saath Saath Dikhawe Pe Bhi Adharm Marne Lage Hai Log

Best Dikhawa Shayari In Hindi

Logon Ki Aadhi Se Jyada Dikhawe Se Bhari Hai Zindgi

Baat Ye Sunkar Hoti Hai Mujhe Sharmandgi


Dikhawa Toh Bohot Hi Jyada Badh Gaya Hai Bhai

Mohabbat Se Jyada Logon Ke Sar Pe Bhoot Isi Ka Chadh Gaya Hai Bhai

Note - hyy friends, aapko hamari ye dikhawa shayari, dikhawa quotes kaise lage hume comment karke batayega jarur Aur agar accha lage toh apne bhi friends ke saath share jarur kare, agar sach Mein accha lage toh warna koi jabardasti nahi hai.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ